डा. जितेन्द्र सिंह ने अहमदाबाद स्पेस एप्लिकेशन सेंटर के विशिष्ट योगदान की प्रशंसा की


Image result for डॉ. जितेन्द्र सिंह

पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास (स्वतन्त्र प्रभार) (डी.ओ.एन.ई.आर.) एम.ओ.एस.पी.एम.ओ., कार्मिक लोक शिकायत व पेंशन, परमाणु ऊर्जा व अन्तरिक्ष राज्य मंत्री डा. जितेन्द्र सिंह ने भारत के अन्तरिक्ष कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए मूलभूत मौलिक जानकारी प्रदान करने के लिए एवं आई.एस.आर.ओ. श्रीहरिकोटा से आरम्भ किए गए विभिन्न प्रतिष्ठित अंतरिक्ष मिशन के लिए, बहुउपयोगी सूचनाएं प्रदान करने के वास्ते स्पेस एप्लीकेशन सेंटर (एस.ए.सी.) अहमदाबाद द्वारा किये गए बहुमूल्य योगदान की प्रशंसा की है।

वर्तमान में गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर, डा. जितेन्द्र सिंह ने स्पेस एप्लिकेशन सेंटर के वैज्ञानिकों के साथ, इसके निदेशक डा. तपन मिश्रा के नेतृत्व में सविस्तार समीक्षात्मक बैठक की।
डा. जितेन्द्र सिंह ने युद्धनीति विषयक कार्य व आपदा प्रबन्ध, ऑप्टिकल ट्रान्सीवर उपग्रह मोबाइल रेडियो इत्यादि के लिए, ओरिगेमी लैंस, स्वदेशी विकसित एम.एम.आई.सी., एयरबॉर्न लो मास एक्स बैंड मिनी- एस.ए.आर. के सम्बन्ध में, एस.ए.सी. द्वारा विकसित कुछ आधुनिकतम प्रौद्योगिकी पर विशेष प्रशंसात्मक टिप्पणी की।

अहमदाबाद स्पेस सेंटर व गुजरात राज्य में चल रहे अन्य अंतरिक्ष विज्ञान कार्यक्रमों का उल्लेख करते हुए डा. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि यह राज्य पहले से ही शिक्षा कार्यों के लिए अंतरिक्ष संचार के अधिकतम उपयोग में अग्रणी था। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में वही कार्य पूर्वोत्तर व पर्वतीय राज्यों के परिधीय क्षेत्रों तक प्रभावी रूप से विस्तारित किए गए हैं। इस संबंध में, उन्होने भारत सरकार के अंतरिक्ष विभाग के साथ शिक्षा विभाग, जम्मू एवं कश्मीर सरकार द्वारा हस्ताक्षरित किए गए सहमति पत्र का उल्लेख किया।

डा. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि भारत अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में पहले से ही विश्व नायक बन कर उभरा है। इसने न केवल, डा. विक्रम साराभाई व डा. सतीश धवन जैसे संस्थापकों के महान प्रयासों को प्रस्तुत किया है बल्कि अन्य देशों के सामने एक उदाहरण भी प्रस्तुत किया है कि कैसे अंतरिक्ष विज्ञान को गैर स्पेस सैटलाइट मिशन कार्यक्रमों के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

डा. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार के तीन वर्ष के कार्यकाल के दौरान अंतरिक्ष विभाग अन्य मंत्रालयों के साथ सहमति ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर चुका है। इसने भारत सरकार के विभिन्न महत्त्वपूर्ण कार्यक्रमों जैसे स्मार्ट सिटी कार्यक्रम, जी.ई.ओ.-एम.एन.आर.ई.जी.ए., टेली एजुकेशन व टेली-मैडिसिन के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग को प्रभावी रूप से योग्य बनाया है।

एस.ए.सी. अहमदाबाद के निदेशक डा. तपन मिश्रा, अपने वरिष्ठ वैज्ञानिकों/अधिकारियों के दल के साथ भाग लिया। इस दौरान डा. पीयूष वर्मा, डा. डी.के.दास, श्री राजीव ज्योति, श्री सरकार एस, श्री राज कुमार व अन्य इस समीक्षात्मक बैठक में उपस्थित थे। - PIB

Follow by Email