डेरे में सर्च अभियान का दूसरा दिन, नरकंकाल की आशंका के चलते हो सकती है खुदाई

पहले दिन नए-पुराने नोट, बिना लेबल की कई दवाएं, बिना नंबर प्लेट वाली लग्जरी एसयूवी, कम्प्यूटर हार्ड डिस्क मिली थी।

डेेरे के अंदर से मिली लेक्सस गाड़ी।

सिरसा. साध्वी यौन शोषण मामले में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम के डेरा सच्चा सौदा में शनिवार को सर्च ऑपरेशन का दूसरा दिन है। रिटायर्ड जज अनिल कुमार पंवार के नेतृत्व में गठित टीम आज नरकंकाल की आशंका के चलते डेरे के बाग बगीचों और वंडर पार्क में खुदाई करवा सकती है। वहीं बड़ी सुरंग की तलाश में भी कुछ टीमें लगी रहेंगी। बता दें कि जांच के पहले दिन सर्च टीम को नए-पुराने नोट, बिना लेबल की कई दवाएं, बिना नंबर प्लेट वाली लग्जरी एसयूवी, कम्प्यूटर हार्ड डिस्क और डेरा में चलाई जाने वाली प्लास्टिक करंसी बरामद की थी। डेरा परिसर से 5 बच्चे भी मिले थे। सर्च टीम जब बाबा की गुफा में पहुंची तो वहां उसे 1500 जोड़ी जूते और 3000 जोड़ी महंगे डिजाइनर कपड़े मिले। राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत के कमरे का भी पता चला। वहां कई लग्जरी आइटम्स मिले। सूत्रों का खुलासा छात्रावास में पहले ही जांच कर चुकी थी डेरा टीम...
- वहीं जांच टीम में शामिल एक सूत्र का कहना है कि डेरे के अंदर बरामद किए गए कंप्यूटर व हार्ड डिस्क अधजली हालत में मिले हैं। उन्हें खुर्द-बुर्द करने की कोशिश की गई थी। 
- सूत्र ने एक अहम खुलासा करते हुए बताया है कि सर्च अभियान से पहले ही डेरे के लोगों ने महिला छात्रावास की जांच कर ली थी। उन्होंने छात्रावास के कमरों के ताले तोड़कर जांच की थी। छात्रावास के नजदीक टूटे हुए तालों का एक ढेर भी मिला है। 
- कुछ रिकॉर्ड भी जली हुई अवस्था में मिला है। जिसे खुर्द-बुर्द करने की कोशिश की गई थी। 

पहले दिन कैसे चला सर्च ऑपरेशन?
- सिरसा में डेरा करीब 800 एकड़ में फैला है। ऑपरेशन करीब 8 बजे शुरू हुआ। इसके लिए पूरे इलाके को 10 जोन में बांटा गया। हर जोन एक सीनियर पुलिस ऑफिसर की निगरानी में रखा गया। पूरे सिरसा में 10 सितंबर तक इंटरनेट सर्विस को सस्पेंड कर दिया गया है। सर्च ऑपरेशन के दौरान मीडिया को एंट्री नहीं दी गई। 
- डेरे में एंट्री के बाद सर्च टीम ने दो कमरों को सील किया। पूरी प्रॉसेस पर नजर रखने के लिए पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट की तरफ से अप्वाइंट कोर्ट कमिश्नर एकेएस पंवार मौजूद रहे।
- डेरा में तलाशी के लिए 6000 जवानों की तैनाती की गई। अकाउंट्स खंगालने के लिए 100 बैंक वर्कर्स बुलाए गए।
- सिरसा के कमिश्नर प्रभजोत सिंह ने बताया, "सर्च ऑपरेशन के मद्देनजर सभी अधिकारियों को उनके काम बता दिए गए हैं। जब तक ऑपरेशन चलेगा, तब तक कर्फ्यू में कोई ढील नहीं दी जाएगी।" 
- बता दें कि 28 अगस्त को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने राम रहीम को 10-10 यानी 20 साल की सजा सुनाई थी।

डेरे से क्या मिला?
- हरियाणा इंफॉर्मेशन एंड पब्लिक रिलेशंस डिप्टी डायरेक्टर सतीश मेहरा ने बताया- डेरा परिसर में 12 हजार रुपए की नई करंसी, 7 हजार रुपए की पुरानी करंसी, कम्प्यूटर हार्ड डिस्क, डेरे में इस्तेमाल की जानी वाली प्लास्टिक मनी, एक बिना नंबर वाली लेक्सस, एक ओबी वैन, एक वॉकी-टॉकी और भारी तादाद में बिना लेबल की फार्मेसी दवाएं मिलीं। 5 बच्चे भी डेरे के अंदर से मिले।

राम रहीम की गुफा से क्या मिला?
- राम रहीम अपनी विला को ‘गुफा’ कहता था। सर्च टीम जब यहां पहुंची तो पुलिस को 1500 जोड़ी जूते मिले।
- बताया जा रहा है कि गुफा के अंदर राम रहीम का आलीशान बेड था। आलीशान बाथरूम, ड्रेसिंग रूम, मेकअप का सामान, महंगी अंगूठियां, महंगी अंगूठियां, 3 हजार जोड़ी महंगे डिजाइनर कपड़े भी मिले।

हनीप्रीत के कमरे में क्या मिला?
- हरियाणा के होम डिपार्टमेंट के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी रामनिवास ने बताया कि सर्च ऑपरेशन के दौरान हनीप्रीत का कमरा भी मिला। जहां से बड़ी तादाद में लग्जरी आइटम्स बरामद किए गए। इसमें गहने, कपड़े और बाकी महंगा सामान शामिल था। फिलहाल इस कमरे को सील कर दिया गया है।
- बता दें कि हनीप्रीत राम रहीम को सजा होने के बाद से ही फरार है। उसके खिलाफ देशद्रोह और हिंसा फैलाने की साजिश में शामिल होने का मामला दर्ज है। उसके खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी किए जा चुके हैं।

किस तरह की गई तैयारियां 
1) एक्शन प्लान
डेरा हेडक्वार्टर में तलाशी अभियान के लिए सैटेलाइट के जरिए डेरा का मैप निकाला गया। ऑपरेशन के मद्देनजर इसे अलग-अलग 10 हिस्सों में बांटा गया है। इसी बेस पर एक्शन प्लान तैयार किया गया है।
2) सर्च टीम
तलाशी के लिए 6000 जवानों को तैनात किया गया। 100 बैंककर्मियों को बुलाया गया, ताकि डेरा और राम रहीम के अकाउंट्स को खंगाला जा सके। डेरा में ताला तोड़ने के लिए सर्च टीम में 22 लोहारों को भी शामिल किया गया। 36 ट्रैक्टर-ट्राली, 10 जेसीबी और तीन दर्जन रोडवेज बसें मंगाई गईं। 60 वीडियोग्राफर हायर किए गए। 100 से ज्यादा मजदूरों को भी लगाया गया।
3) सिक्युरिटी
डेरा के आसपास 16 नाके बनाए गए। पैरा मिलिट्री फोर्सेस की 41 कंपनियां तैनात की गई हैं। इनमें बीएसएफ की 2, आईटीबीपी की 5, सीआरपीएफ की 20, एसएसबी की 12 और आरएएफ की 2 कंपनियां शामिल हैं। आर्मी के 4 कॉलम और 4 जिलों की पुलिस फोर्स भी तैनात रही। एक डॉग स्क्वॉड और एक स्वैट की टीम की भी तैनाती की गई। 7 आईपीएस और 100 इन्वेस्टिगेशन आफिसर भी बुलाए गए।
4) स्पेशल अरेंजमेंट
राम रहीम को सजा सुनाने के बाद भड़की हिंसा के मद्देनजर स्पेशल सिक्युरिटी अरेंजमेंट भी किए गए। बम स्क्वॉड की 50 मेंबर्स की टीम को तैनात किया गया। इसके अलावा 40 स्वैट कमांडो भी तैनात किए गए।
5) कौन संभाले है ऑपरेशन का जिम्मा?
- पानीपत के रिटायर्ड सेशन जज एकेएस पंवार को कमिश्नर अप्वाइंट किया गया। पूरा सर्च ऑपरेशन इनकी निगरानी में चला। 
- आईजी हिसार रेंज अमिताभ ढिल्लों और सिरसा के डीसी प्रभजोत सिंह के अलावा एसपी अश्विन शैणवी, आईपीएस अफसर विरेंद्र विज और दीपक गहलावत भी सर्च ऑपरेशन में शामिल रहे।

किस मामले में बाबा को सजा हुई है?
- 2002 में एक साध्वी ने गुमनाम चिट्ठी लिखी। इसमें बताया गया था कि कैसे डेरा सच्चा सौदा के अंदर लड़कियों का सेक्सुअल हरेसमेंट होता था। यह चिट्ठी पंजाब और हरियाणा कोर्ट को भी भेजी गई थी। इसके बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ यौन शोषण का केस शुरू हुआ और सीबीआई ने जांच शुरू की।
- 15 साल बाद सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार दिया। माना जाता है कि ये चिट्ठी राम रहीम के 20 साल ड्राइवर रहे रणजीत सिंह की बहन ने लिखी थी। बाद में रणजीत का मर्डर हो गया था। इसका शक भी बाबा समर्थकों पर जताया गया। यह केस भी पंचकूला की सीबीआई अदालत में चल रहा है।

क्या सजा सुनाई कोर्ट ने राम रहीम को?
- डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को 28 अगस्त को CBI की स्पेशल कोर्ट ने 10-10 साल की सजा सुनाई। यानी डेरा चीफ को कुल 20 साल जेल में गुजारने होंगे। कोर्ट ने राम रहीम पर कुल 30 लाख रुपए का जुर्माना लगाया। इसमें 15-15 लाख रुपए का जुर्माना दो रेप केस के लिए है। 14-14 लाख रुपए दोनों रेप विक्टिम साध्वियों को हर्जाने के रूप में देने होंगे। सजा सुनाए जाने पर राम रहीम कोर्ट रूम में फूट-फूटकर रोने लगा।

Source - Danik Bhaskar

Follow by Email