9 Sep 2017

आतंकी हमले में शहीद हुए कर्नल संतोष महादिक की पत्नी बनी सेना में ऑफिसर

आतंकी हमले में शहीद हुए कर्नल संतोष महादिक की पत्नी बनी सेना में ऑफिसर
जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले के दौरान शहीद कर्नल संतोष महादिक की पत्नी आज विधिवत सेना में शामिल हो गईं हैं।

नई दिल्ली (एजेंसी)। आतंकवाद विरोधी अभियान के दौरान जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए सेना के कमांडो कर्नल संतोष महादिक की विधवा पत्नी स्वाती महादिक सेना में ऑफिसर बन गईं हैं। चेन्नई के ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी में रहते हुए उन्होंने एक साल की कठिन ट्रेनिंग को पासिंग आउट परेड के साथ पूरा किया जिसके बाद वे आज लेफ्टिनेंट बन गईं। 
स्वाति 32 साल की हैं और सेना के नियमों के मुताबिक इस उम्र में वो भर्ती नहीं हो सकती थी। स्वाति की इच्छा पर तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह ने सरकार से उन्हें उम्र में छूट देने की सिफारिश की थी। जिसे तब के रक्षामंत्री मनोहर पर्रीकर ने मान लिया था। स्वाति की एक 12 साल की बेटी और 6 साल का बेटा है।

पति के पदचिन्हों का अनुसरण करते हुए अफसर बनी स्वाति ने इस मौके पर कहा कि उनके पति का पहला प्यार उनकी वर्दी और यूनिट थी, तो मुझे इसे पहनना ही था। दो बच्चों की मां स्वाती सर्विस सलेक्शन बोर्ड (एसएसबी) के सामने हाजिर हुई। लिखित परीक्षा और साक्षात्कार में वह पास करते हुए स्वाति ने आखिरकार वो मुकाम पा ही लिया जिसके लिए वो जी जान से जुटी थीं।

गौरतलब है 2015 में कर्नल महादिक और उनके साथियों पर घात लगाकर हमला किया गया था। हमले के समय अपने साथियों के साथ महादिक नियंत्रण रेखा के समीप घुसपैठ करने वाले आतंकवादियों की छापामारी कर रहे थे। हमले में शहीद हुए महादिक को गणतंत्र दिवस के मौके पर शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था।

Source - Jagran

Follow by Email