3 Oct 2017

शौक ने बदल दी इन बहनों की LIFE, अब 1 करोड़ सालाना की करती है कमाई


लखनऊ की कोमल ने बहन स्वेता के साथ मिलकर खुद का स्टार्टअप शुरू किया। इसके जरिए वे देश भर में ज्वैलरी प्रोडक्ट सेल्स कर 1 करोड़ का सालाना मुनाफा कमा रही हैं।
शौक ने बदल दी इन बहनों की LIFE, अब 1 करोड़ सालाना की करती है कमाईलखनऊ.राजधानी की दो बहनों के शौक ने महिलाओं के लिए मिसाल पेश की है। पढ़ाई के साथ ही दोनों ने इंडिया के यूनिक डिजाइन की ज्वैलरी कलेक्ट करनी शुरू कर दी। फिर खुद का स्टार्टअप डाला। रिस्पॉन्स अच्छा मिलता देख 'Festivefeel.com' नाम की एक वेबसाइट बनवाई। इसके जरिए वे देश भर में ज्वैलरी प्रोडक्ट सेल्स कर 1 करोड़ का सालाना मुनाफा कमा रही हैं। DainikBhaskar.com ने इनसे बात की, जो आपको बता रहा है। ट्यूशन फीस से निकालती थीं अपना खर्चा...
- लखनऊ के सहादतगंज में रहने वाली कोमल नाग का जन्म 5 जुलाई 1985 को कानपुर शहर में हुआ। इनके परिवार में पिता ओम नारायण नाग, मां और 2 बहनें और 1 भाई है।
- कोमल बताती हैं, 'बचपन से ही पढ़ने में अच्छी थीं। स्कूल में अच्छे परफामेंस के कारण कई बार स्कॉलरशिप भी मिली थी। कोचिंग पढ़ाकर और स्कॉलरशिप के पैसे से अपनी पढ़ाई पूरी की। कुछ पैसे बचाकर भाई-बहनों की जरूरतों को भी पूरा किया।
- उन्होंने 2004 में लखनऊ के एसकेडी इंटर कॉलेज से 12th की पढ़ाई पूरी की। इस दौरान यूपी में उनकी थर्ड रैंक आई। 'यूपी के एक्स एजुकेशन मिनिस्टर राज नाथ सिंह ने अवाॅर्ड देकर सम्मानित भी किया था।
ऐसी रही प्रोफेशनल LIFE
-
 2015 में पढ़ाई पूरी करने के बाद मई 2016 में वेबसाइट टूलबॉक्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में सीनियर वेबसाइट डिजानर के तौर पर काम किया। जनवरी 2013 में विजफैक्ट्री स्टूडियो में क्रिएटिव हेड के तौर पर काम किया। कॉसमॉस क्रिएटिव कंपनी में 2008 से 2010 तक वेब डिजाइनर के तौर पर काम किया।
- अप्रैल 2006 से दिसंबर 2007 तक यूनिकोड सिस्टम कम्पनी में वेबडिजाइनर के तौर कर काम किया।

ऐसे आया स्टार्ट-अप शुरू करने का आइडिया
- इनके मुताबिक, मुझे और मेरी सिस्टर श्वेता को बचपन से ही ज्वैलरी पहनने का बहुत शौक रहा है। 2005-08 तक जब मैं लखनऊ यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन की पढ़ाई कर रही थी। तब दोस्तों के साथ ज्वैलरी की शॉपिंग करने के लिए जाया करती थी। '
- शॉप पर हम सुंदर डिजाइन और लेटेस्ट फैशन वाली ज्वैलरी ढूढते थे। लेकिन काफी कोशिश के बाद भी हमें हमारी पसंद के ज्वैलरी नहीं मिल पाती थी। वहीं से मेरे मन में ख्याल आया कि क्यों न ज्वैलरी के फील्ड में ही करियर तलाश किया जाए। फिर मैंने अपने दोस्तों और बहन को आइडिया बताया, जो उन्हें अच्छा आया। उसके बाद मैंने अपना खुद का स्टार्टअप शुरू करने का डिसीजन लिया।
सालाना1 करोड़ तक होती है कमाई
- वो कहती हैं- 2015 में कोमल ने बहन और दो अन्य दोस्तों की मदद से ऑनलाइन ज्वैलरी बेचने का काम शुरू किया। उस दौरान घर की फाइनेंशि‍यल कंडीशन ठीक नहीं थी। जैसे-तैसे थोड़े बहुत पैसे का इंतजाम हुआ। उसके बाद www.festivefeel.com नाम से वेबसाइट बनवाई। फिर दिल्ली, मुंबई जैसे शहरों में ट्रैवेल कर लेटेस्ट ज्वैलरी कलेक्शन शुरू किया।
- सिलेक्टेड पीस जमा करने के बाद इंडिया के यूनिक डिजाइन वाली करीब हर ब्रांड की ज्वैलरी कलेक्ट हो गई। वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन बुकिंग कर ऑर्डर लेना शुरू किया। 18 से 32 एज ग्रुप की लड़कियों और महिलाओं की ओर ज्यादा फोकस किया। कुछ दिनों के अंदर ही प्रोडक्ट की डिमांड बढ़ने लगी।
- काम बढ़ता गया और देखते-देखते कोमल ने अपने स्टाफ की संख्या भी बढ़ा दी। उन्हें और उनकी बहन को मिलाकर 6 लोग कम करते हैं। सलाना 1 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई होती है।
ऐसी है फैमिली लाइफ
- पिता की अपनी एक शॉप है और मां हाउस वाइफ हैं। छोटी बहन श्वेता बड़ी बहन के बिजनेस में हाथ बटाती है। वहीं, तीसरे नंबर की बहन फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर रही है और भाई एंड्रॉयड एेप्लीकेशन बनाने का काम कर रहा है।
- 2016 में कोमल की इंगेजमेंट हुई है। हालही में अभी दोनों बहनें दिल्ली में रहकर कंपनी संभल रही हैं।
2016 में कोमल की इंगेजमेंट हुई है। हालही में अभी दोनों बहने दिल्ली में रहकर कम्पनी में मार्केटिंग और टेक्निकल का काम देखती है।
कोमल का कहना है- बचपन से ही मुझें और मेरी बहन को ज्वैलरी पहनने का बहुत शौक रहा है। लेटेस्ट फैशन की तलाश से स्टार्टअप शुरू करने का आइडिया आया।
Source - Danik Bhaskar

Follow by Email