28 Mar 2018

पेपर लीक: CBSE दोबारा करवाएगा 10वीं की गणित और 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा


केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने दो परीक्षाओं को वापस करवाने का फैसला किया है. सीबीएसई कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं के एक-एक पेपर को दोबारा करवाएगा. बोर्ड दसवीं कक्षा के गणित और 12वीं कक्षा के इकोनॉमिक्स की परीक्षा दोबारा करवाएगा. आरोप लग रहे थे कि ये दोनों पेपर लीक हो गए थे और परीक्षा से पहले ही सोशल मीडिया पर इनके पेपर वायरल हो गए थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पेपर लीक पर नाराजगी व्यक्त की है.

कक्षा 10वीं के गणित के पेपर का आयोजन बुधवार को ही किया गया था, लेकिन पेपर लीक की रिपोर्ट के बाद इसे रद्द कर दिया गया है. वहीं इकोनॉमिक्स का पेपर सोमवार को करवाया गया था और उस दिन आरोप लगे थे कि परीक्षा से पहले परीक्षा का पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. हालांकि उस दिन सीबीएसई ने पेपर ली की खबर को गलत बताया था और जांच करवाने का आदेश दिया था.
सरकारी सूत्रों के अनुसार छात्रों को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है और छात्रों के हितों का ध्यान रखा जाएगा. वहीं गणित के पेपर लीक से जुड़े गिरोह के बारे में पता लगा लिया गया है. सरकार दोबारा होने वाली परीक्षा में पेपर लीक से बचने के लिए एक सुरक्षित सिस्टम लाने की कोशिश कर रही है. बोर्ड जल्द से जल्द इस परीक्षा का आयोजन करेगा और अगले हफ्ते तक परीक्षा की तारीखों का ऐलान भी कर दिया जाएगा.

अब ऐसे होगी परीक्षा

वहीं प्रकाश जावड़ेकर ने पेपर लीक को लेकर कहा है कि सीबीएसई पेपर लीक रोकने के लिए सरकार ने कड़े कदम उठाए. साथ ही उन्होंने कहा है 'इलेक्ट्रॉनिकली कोडेड पेपर एग्जामिनेशन सेंटर्स को भेजा जाएगा. आधा घंटे पहले सेंटर्स को इलेक्ट्रॉनिक पेपर भेजा जाएगा. पासवर्ड प्रूफ होगा सीबीएसई पेपर. सेंटर पर ही प्रिंट आउट निकालकर छात्रों को एग्जाम पेपर बांटा जाएगा.'

CBSE to conduct re-examination of Maths paper for class X and Economics paper of class XII. pic.twitter.com/lMfeMV72k0
CBSE will conduct re-examination of Maths paper for class X and Economics paper of class XII. pic.twitter.com/RCOwqRt6EZ

View image on Twitter


अकाउंट्स के पेपर लीक की भी आई थी खबर

इकोनॉमिक्स के पेपर से पहले अकाउंट्स के पेपर लीक होने की खबरें आई थीं, जिसके बाद सीबीएसई ने आधिकारिक नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा था कि पेपर लीक की खबर गलत है. साथ ही बोर्ड ने एफआईआर करवाने का फैसला ही लिया था. गौरतलब है कि सीबीएसई 5 मार्च से बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन कर रहा है और इस बार परीक्षा में लाखों उम्मीदवार भाग ले रहे हैं.

Source - Aaj Tak

Follow by Email