10 Apr 2018

CWG 2018: भारतीय बैडमिंटन मिक्स्ड टीम का धमाल, मलयेशिया को 3-1 से हराकर जीता गोल्ड मेडल


भारत ने बैडमिंटन मिक्स्ड टीम इवेंट में मलयेशिया को 3-1 से हराते हुए 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीत इतिहास रच दिया है। कॉमनवेल्थ के बैडमिंटन मिक्स्ड टीम इवेंट में यह भारत का पहला गोल्ड मेडल है। भारत की ओर से मिश्रित युगल में सात्विक रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा, पुरुष एकल में श्रीकांत किदांबी और महिला एकल में साइना नेहवाल ने जीत दर्ज की। बता दें कि टेबल टेनिस पुरुष टीम ने नाइजीरिया को 3-0 से हराकर भारत की झोली में 9वां गोल्ड डाला तो उसके कुछ ही देर बाद बैडमिंटन टीम ने भारत को 10वां गोल्ड दिला दिया।

Also Read - साइना नेहवाल के अबतक का सफ़र


इससे पहले 5वें दिन का पहला गोल्ड जीतू राय ने 10 मीटर एयर पिस्टल (पुरुष) इवेंट में दिलाया। इसी इवेंट में ओमप्रकाश मिठारवाल ने कांस्य पदक जीता, वहीं 10 मीटर एयर राइफल (महिला) में मेहुली घोष ने सिल्वर और अपूर्वी चंदेला ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था। 

जीत से उत्साहित हैं कोच पुलेला गोपीचंद 

शटलरों के गोल्ड मेडल जीतने के बाद नैशनल कोच पुलेला गोपीचंद अभिभूत हैं। उन्होंने नवभारत टाइम्स ऑनलाइन से खास बातचीत में कहा, "मैं मिक्स्ड टीम की मलयेशिया पर मिली शानदार जीत से बेहद रोमांचित हूं। वह काफी मजबूत टीम है। मिक्स्ड डबल्स में अश्विनी और सत्विक ने शानदार शुरुआत दी। इसके बाद श्रीकांत और साइना ने सिंगल में इसे आगे बढ़ाया और गोल्ड मेडल दिला दिया।'' उन्होंने साथ ही कहा कि कुछ साल पहले की बात करें तो मलयेशिया को हराना हमारे लिए अकल्पनीय होता था। मुझे खुशी हो रही है इस सफलता पर।" 

पहला मैच: सात्विक रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा भारत की ओर से सात्विक रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की मिश्रित युगल जोड़ी सबसे पहले उतरी। इस जोड़ी ने मलयेशिया के पेंग सुन चेन और ल्यू यिंग गोह को 2-1 से हराकर भारत को 1-0 की बढ़त दिलाई। मैच का स्कोर 21-14, 15-21 और 21-15 से भारत के पक्ष में रहा। तीसरे गेम में पिछड़ने के बाद भारत ने वापसी करते हुए 21-15 से जीता। 

दूसरा मैच: किदांबी के आगे बेबस ली चोंग वेईपहले मैच में मिली बढ़त के बाद पुरुष एकल वर्ग में भारत के स्टार शटलर श्रीकांत किदांबी के सामने थे पूर्व नंबर वन खिलाड़ी ली चोंग वेई। यह मुकाबला उम्मीद से एकदम उलट रहा। भारतीय खिलाड़ी ने मलयेशियाई स्टार को चौंकाते हुए एकतरफा 2-0 से जीत दर्ज की। उन्होंने वेई को 21-17 और 21-14 से हराया। इस तरह लगातार दो मुकाबले भारत के पक्ष में रहे और मलयेशिया के खिलाफ बढ़त 2-0 की हो गई थी। 

तीसरा मैच: सात्विक रंकीरेड्डी और चिराग को मिली हारतीसरा मुकाबला पुरुष युगल का रहा। इस मुकाबले में सात्विक रंकीरेड्डी और चिराग को मलयेशिया के गोह वी शेम और वी किओंग तान से हार का सामना करना पड़ा। मलयेशियाई जोड़ी ने भारतीय जोड़ी को एकतरफा 21-15 और 22-20 से हरा दिया। मैच के दूसरे गेम में भारतीय जोड़ी ने काफी संघर्ष किया, लेकिन जीत नहीं सकी। 

चौथा गेम: साइना नेहवाल की एकतरफा जीतचौथे और निर्णायक मुकाबले में भारतीय स्टार शटलर साइना नेहवाल का मुकाबला मलयेशिया की 24 वर्षीय सोनिया चेह से हुआ। साइना को पहले गेम में वर्ल्ड नंबर-29 खिलाड़ी को हराने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी, लेकिन दूसरा गेम कड़े मुकाबले में चेह ने जीत लिया। हालांकि, साइना ने तीसरे गेम में जोरदार वापसी की और 21-9 से जीत दर्ज की। इसी के साथ भारत के खाते में एक और गोल्ड मेडल जुड़ गया। 
Source - Nav Bharat 

Follow by Email