लंबी बीमारी के बाद काम पर लौटे अरुण जेटली, संभालेंगे वित्‍त मंत्रालय



तीन महीने से भी ज्यादा समय के बाद अरुण जेटली की आज वित्त मंत्रालय में वापसी हो रही है. आज सुबह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह के बाद जेटली को वित्त तथा कंपनी मामलों के मंत्रालयों की ज़िम्मेदारी एक बार फिर सौंप दी. जेटली का गुर्दा प्रत्यारोपण हुआ है और वे ऑपरेशन के कारण 14 मई से बिना विभाग के मंत्री बनाए गए थे.
अरुण जेटली की अनुपस्थिति में वित्त तथा कंपनी मामलों के मंत्रालयों का प्रभार पीयूष गोयल को सौंपा गया था, जिनके पास रेल और कोयला मंत्रालय की पहले से ही ज़िम्मेदारी थी. पिछले तीन महीनों में जेटली की कई मौक़ों पर कमी महसूस की गई. राज्यसभा में उपसभापति के चुनाव के दिन जेटली वोट डालने के लिए सदन में आए थे.



आपको बता दें कि एम्‍स में जेटली का किडनी का प्रत्यर्पण हुआ था, जिसके बाद उन्‍हें आराम करने की सलाह दी गई थी. 12 मई को जेटली को एम्स में भर्ती कराया गया था. एम्‍स में वह लगभग एक महीने तक डायलिसिस पर रहे. 14 मई को उनका किडनी ट्रांसप्लांट किया गया था, जिसके बाद से वे डॉक्टरों की निगरानी में थे

गौरतलब है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली गुर्दे की बीमारी से पीड़ित हैं और दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ( एम्स ) में कराया गया था. इलाज के बाद उन्हें घर पर नियम-परहेज के साथ रहने की सलाह दी गई थी.

Source - NDTV 


Follow by Email