सितंबर के पहले हफ्ते में खाली रह सकते हैं एटीएम, RBI में चल रही है ये उठापटक




रिजर्व बैंक में सितंबर माह के शुरुआती पांच दिनों में कार्य नहीं होगा। इससे बैंकों में करेंसी का संकट होने की आशंका जताई जा रही है। पेंशन बहाली की मांग को लेकर रिजर्व बैंक के अधिकारियों व कर्मचारियों ने सोमवार को रिजर्व बैंक में एक साथ प्रदर्शन किया और सामूहिक अवकाश का नोटिस दिया।

यूनाइटेड फोरम आफ रिजर्व बैंक आफिसर्स एंड इंप्लाइज के बैनर तले अधिकारी और कर्मचारी पेंशन अपडेटेशन, पेंशन ओपनिंग आदि मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। सोमवार को उन्होंने भोजन अवकाश में प्रदर्शन कर इन मांगों को पूरा करने के लिए कहा। 

रिजर्व बैंक आफ इंडिया इंप्लाइज एसोसिएशन के सचिव अनूप कुमार मिश्रा ने बताया कि चार व पांच सितंबर को अधिकारी व कर्मचारी सामूहिक रूप से आकस्मिक अवकाश लेंगे। इससे पहले एक सितंबर को शनिवार व दो को रविवार की वजह से बैंक बंद रहेगा। तीन सितंबर को जन्माष्टमी का अवकाश रहेगा। इस तरह बैंक में पांच दिन कार्य नहीं होगा। करेंसी की आपूर्ति और अन्य भुगतान संबंधी काम रुक जाएंगे। प्रदर्शन के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी गई।



पांच दिन तक प्रभावित होगा आरटीजीएस

अब रीयल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) और नेशनल इलेक्ट्रानिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) नेशनल पेमेंट कारपोरेशन आफ इंडिया (एनपीसीआइ) के गेटवे से होते हैं। देश भर में हर महीने औसतन एक लाख अरब रुपये आरटीजीएस और करीब 15350 अरब रुपये एनईएफटी के जरिये ट्रांसफर होते हैं। 

पांच दिनों तक इलेक्ट्रानिक पेमेंट सिस्टम के ये दोनों बड़े गेटवे बंद होने का असर बैंकिंग लेनदेन पर पड़ेगा। हालांकि सूत्रों के अनुसार कि एनपीसीआइ और आरबीआइ ने इसकी व्यवस्था की है और कर्मचारियों-अधिकारियों के सामूहिक अवकाश का कोई असर नहीं पड़ेगा।

Source - Jagran 


Follow by Email