नौकरी के लिए विदेश जाने के पहले बरतें ये सावधानियां, ताकि मलेशिया गई इन औरतों सा आपका हाल न हो



मई में भारत की दो औरतें काम के लिए मलेशिया गईं. परिवार के लिए कुछ पैसा कमाने का उनका टारगेट था, लेकिन वो ऐसा कर नहीं सकीं. वो इसलिए क्योंकि मलेशिया में दोनों भारतीय औरतें को देह सेक्स वर्क करने पर मजबूर किया गया. उन्हें जबरन ही इस धंधे में धकेल दिया गया. एक औरत ने किसी तरह वहां की पुलिस से संपर्क किया और पूरी कहानी बता दी. मलेशियाई पुलिस ने औरत को बचाया और अपने संरक्षण में ले लिया, लेकिन अभी तक दूसरी औरत इसी चंगुल में फंसी हुई है.

मलेशिया में जबरन लड़कियों को सेक्स वर्क में फंसाने वाले जाल से जिस औरत को मुक्त कराया गया, उसका एक छह साल का बेटा है, जो उसके परिवार के बाकी लोगों के साथ भारत में ही रहता है. अब यह औरत अपने परिवार से मिलना चाहती है. दिल्ली महिला आयोग भी इस औरत की हेल्प करना चाहता है, इसलिए आयोग ने विदेश मंत्रालय से संपर्क किया है. मंत्रालय से इस पूरे मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की गई है. आयोग चाह रहा है कि महिला जितनी जल्दी हो अपने परिवार से मिल सके. लड़की के भाई ने महिला आयोग से मदद मांगी थी, जिस पर आयोग अब एक्शन ले रहा है.



ये तो अच्छा हुआ कि वह औरत किसी तरह से मलेशिया की पुलिस से कॉन्टैक्ट कर सकी. अब इस बात की भी थोड़ी उम्मीद बंध गई है कि जल्द ही दूसरी महिला के बारे में भी कुछ पता चल जाएगा. दोनों औरतें इस बात से पूरी तरह से अनजान थीं कि मलेशिया में उनके साथ क्या होने वाला है. काम के लिए विदेश गई भारतीय महिलाओं के साथ इस तरह की वारदात होने का यह कोई पहला मामला नहीं है. पिछले साल सऊदी अरब में भी कुछ भारतीय महिलाओं का शोषण होने की खबर सामने आई थी.

सऊदी अरब से भारत लौटी एक महिला सारा (परिवर्तित नाम) ने बताया था कि जब वह दम्माम के एक ब्यूटी पार्लर में काम करती थीं तब उनके ऊपर 'होम सर्विस' लेने का दबाव बनाया जाता था. होम सर्विस यानी कि देह व्यापार करने के लिए मजबूर किया जाता था. लड़कियां जिनके घर होम सर्विस के लिए जाएंगी, उनकी सेक्स दासी कहलाएंगी. सारा अक्टूबर 2016 में अपने घर अहमदाबाद लौटी थीं. उन्होंने कहा था, 'मेरे ऊपर होम सर्विस के लिए दबाव बनाया जाता था. मैं तैयार नहीं होती थी, तो मुझे पीटा जाता था.'

सारा और मलेशिया में देह व्यापार का शिकार हुई महिला जैसी बहुत सी भारतीय औरतें आंखों में एक अच्छी और खुशहाल जिंदगी का सपना लेकर विदेश जाती हैं. उनका टारगेट अपने परिवार के लिए पैसे कमाना होता है, लेकिन अनजाने में वह बहुत ही घिनौने काम में फंस जाती हैं. कई भारतीय पुरुष भी विदेश में नौकरी पाने की चाहत में फ्रॉड के झांसे में आ जाते हैं.

हममें से बहुत से लोगों के पास कई बार कॉल आया होगा, जिसमें आपको विदेश में नौकरी का ऑफर दिया गया होगा. आपसे कहा गया होगा, 'आपको शुरू में बस थोड़े से पैसे जमा करने होंगे, उसके बाद आपको बहुत अच्छी नौकरी मिल जाएगी, वो भी विदेश में... आपको कुछ क्लाइंट बनाने होंगे, हर एक क्लाइंट पर आपको एक लाख, दो लाख (एक बड़ी रकम) दिए जाएंगे, आपको विदेश घूमने का मौका मिलेगा, विदेश में काम करने का मौका भी मिलेगा....' ये कुछ ऐसे फोन कॉल्स होते हैं, जो बहुत ही ज्यादा खतरनाक होते हैं. इनमें से बहुत से फोन कॉल्स फ्रॉड होते हैं, जिनका मकसद आपका पैसा लूटना और आपको गलत कामों में फंसाकर उससे पैसा बनाना होता है.

अगर आप सही में विदेश जाकर काम करना चाहते हैं और चाहते हैं कि आपको किसी भी तरह से ठगा न जाए, तो आपको सावधान रहना होगा. किसी भी तरह की नौकरी के लिए दूसरे देश जाने से पहले हर तरह की जानकारी लेनी होगी. कुछ जरूरी बातें हम आपको बता रहे हैं, ताकि आप विदेश में नौकरी के लिए हां बोलते वक्त किसी भी तरह के फ्रॉड का शिकार न हो जाएं-

- बहुत से युवा नौकरी के लिए प्लेसमेंट एजेंसियों में या पोर्टल में अपना अकाउंट बनाते हैं, ताकि उन्हें अच्छी नौकरी की जानकारी मिलती रहे. इन्हीं एजेंसियों से कई बार युवाओं के पते और कॉन्टैक्ट नंबर निकालकर उन्हें कॉल किया जाता है और विदेश में नौकरी ऑफर की जाती है. अगर आपके साथ ऐसा होता है तो सबसे पहले तो आपको जो बंदा कॉल करता है, उसके बारे में सारी जानकारी लेनी चाहिए.

- उस बंदे से व्यक्तिगत तौर पर किसी सार्वजनिक जगहों पर मीटिंग करनी चाहिए. उसके ऑफर को ध्यान से समझना चाहिए. वो जो भी बात आपसे कहे, उसकी सारी जानकारी खोद-खोद कर लेनी चाहिए, हर तरह का डाउट क्लियर करना चाहिए.

- अगर वो आपसे किसी तरह के पैसे मांगे, तो आप ये पूछिए कि किस बात के पैसे मांगे जा रहे हैं. एक भी पैसा देने से पहले पूरी जानकारी लें, सलाह तो यही है कि पैसे न दें.

- अगर आपसे यह कहा जाता है कि प्लेसमेंट एजेंसी के नाम पर पैसे मांगे जा रहे हैं, तो आप यह कहें कि जब आपको आपकी सैलरी मिलेगी तभी आप पैसे देंगे, उसके पहले नहीं. क्योंकि क्या पता कि यह एक तरह का फ्रॉड हो आपसे पैसे वसूल करने का. आपसे पैसे लेने के बाद वो आदमी फरार भी हो सकता है.

- जिस कंपनी में आपकी जॉब लगाने की बात की जाए, उसकी सारी जानकारी पहले ही ले लीजिए. लगभग हर देश का दूतावास है, इसलिए सलाह यह होगी कि दूतावास से जरूर संपर्क करें. वहां आपको सभी जरूरी जानकारियां मिल जाएंगी.



- उस देश में काम कर रहे किसी भारतीय व्यक्ति से संपर्क करें. उससे कहें कि वो आपकी थोड़ी मदद करे और यह जानकारी दे कि इस तरह की कोई कंपनी है भी या नहीं. भारतीयों के पास उस देश में रहने का कैसा अनुभव है, इसकी पूरी जानकारी लें.

- आपको जो पता दिया जाता है, उसे इंटरनेट पर सर्च करें. वेबसाइट विजिट करें, जो भी जानकारी उसमें दी गई होती है, वह सही है या नहीं, उसके बारे में पता करें. क्योंकि नौकरी के लिए दूसरे देश जाना बहुत बड़ा फैसला होता है, ऐसे में हर एक चीज की आपको सही जानकारी लेनी चाहिए.

- अगर कोई कंपनी बिना इंटरव्यू के या फिर बिना किसी सेलेक्शन प्रोसेस के आपको ऑफर लेटर देती है, मोटी सैलरी ऑफर करती है तो वह फ्रॉड भी हो सकता है.

- अगर कोई बंदा व्यक्तिगत तौर पर आपसे संपर्क करता है और कहता है कि विदेश में आपको नौकरी देगा, तो वह फ्रॉड भी हो सकता है. खासतौर पर थोड़ा कम पढ़ी लिखी लड़कियों को देह व्यापार जैसे धंधे में डालने के लिए उन्हें कुछ लोग विदेश में काम देने के नाम पर बहलाते-फुसलाते हैं, ऐसे में कोई भी कदम उठाना से पहले हर तरह की जानकारी लेना जरूरी है. हम ये नहीं कह रहे हैं कि विदेश में नौकरी का जो भी ऑफर आता है, वह सभी फ्रॉड है, लेकिन सावधानी बरतनी बेहद जरूरी है. क्योंकि नौकरी के सिलसिले में विदेश जाने वाली कई महिलाओं को न चाहते हुए वेश्यावृत्ति में धकेल दिया जाता है. वहां वह किसी को पहचानती नहीं हैं, ऐसे में इस दलदल से बाहर निकलना बहुत मुश्लिक हो जाता है.

Source - Odd India 


Follow by Email