हिसार: संत रामपाल को कोर्ट ने दिया दोषी करार, 16-17 अक्टूबर को होगा सजा का ऐलान

हरियाणा में हिसार के सतलोक आश्रम मामले में जेल में बंद बाबा रामपाल को कोर्ट ने गुरुवार को दोषी करार दिया है। कोर्ट ने हत्‍या के दो मामलों में संत रामपाल दोषी करार दिया है। जेल के अंदर ही कोर्ट बनाया गया हैं। इसी के मद्देनजर इसको हिसार और आसपास के इलाकों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

16-17 अक्टूबर को होगा सजा का ऐलान किया जाएगा।

हत्‍या के दो मामलों में संत रामपाल को दोषी करार दिया गया है।

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संत रामपाल की पेशी हुई है।



संत रामपाल मामले की सुनवाई कोर्ट में शुरू हो गई है। थोड़ी देर में फैसला आ सकता है।

सतलोक आश्रम मामले में बाबा संत रामपाल पर फैसला सेंट्रल जेल 1 में सुनाया जाएगा।

संत रामपाल की तरफ से नौ वकीलों की टीम सेंट्रल जेल 1 में पहुंच गई है।

सेंट्रल जेल पहुंचे जज, थोड़ी देर में आ सकता है रामपाल पर फैसला। 

पुलिस ने हिंसा और तोड़फोड़ जैसी घटनाओं से निपटने के लिए भी इंतजाम किए हैं। हिसार जिले में धारा-144 लागू भी कर दी गई है, रिपोट्स के मुताबिक इंटरनेट सेवा को भी बंद कर दिया गया है।

जिस कोर्ट में बाबा रामपाल के भविष्य की सुनवाई होनी है उस कोर्ट के चारों ओर तीन किलोमीटर का सुरक्षा घेरा बनाया गया है। कोई भी बाहरी व्यक्ति अंदर प्रवेश नहीं कर सकेगा है।

कानून व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने के लिए मध्यप्रदेश, राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के विभिन्न हिस्सों से हिसार आने वाली ट्रेनों का संचालन नहीं होगा।

खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक 48 घंटे पहले जिले की सभी सीमाएं सील कर दी गई है। सीसाएं सील करने के पीछे की मुख्य वजह है कि कोई भी रामपाल का समर्थक शहर में प्रवेश ना कर सकें।

आपको बता दें कि 18 नवंबर 2014 को सतलोक आश्रम में हुए हंगामे में एक बच्चे और पांच महिलाओं की मौत हो गई थी। 2014 के मामले में आज कोर्ट में सुनवाई हुई और कोर्ट ने दो हत्या के मामले में रामपाल को दोषी करार दिया है। इस केस में रामपाल और उनके अन्य 14 साथियों को आरोपी बनाया गया था।

Source - Hari  Bhoomi 


Follow by Email