5 टिप्स जो सबसे जेंटल बेबी केयर प्रोडक्ट्स खरीदने में हमेशा आएंगे काम!



माँ बनना हर एक औरत के लिए एक अलग एहसास होता है। ऐसे एहसास के साथ उसका अपने बच्चे से जुड़ाव भी बेहद ख़ास होता है। वह बच्चे की छोटी से छोटी जरूरत और सुरक्षा का ख्याल रखती हैं। ऐसे में बच्चे के आने के बाद सबसे पहला काम होता है उस नाज़ुक सी जान की केयर करना।इसमें एक माँ के काम आते हैं बेबी केयर प्रोडक्ट्स| बेबी प्रोडक्स चुनते वक़्त इन 5 चीज़ों का अवश्य ध्यान रखें: 


1. प्रोडक्ट्स क्लिनिकली प्रमाणित हों और राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तरों को मीट करे :

बच्चों की त्वचा बेहद नाज़ुक होती है, ख़ास तौर पर नवजात शिशु की।इसलिए उनके लिए बेबी केयर प्रोडक्ट्स का चुनाव सोच- समझकर करना होता है। प्रोडक्ट्स खरीदने से पहले चेक करें कि वह कितने ग्लोबल या इंटरनेशनल स्टैंडर्ड्स पर खरा उतरता है और कितने टेस्ट से होकर गुजरता है|

ध्यान रखें कि प्रोडक्ट पूरी तरह से सौम्य यानी 100% जेंटल केयर की गारंटी देता हो, और इसमें सिर्फ शुद्ध एवं एसेंशियल इंग्रेडिएंट्स इस्तेमाल किये गए हों| इससे निश्चित रूप से आपके बच्चे को स्किन प्रोब्लम्स होने के चान्सेस कम हो जायेंगे।

साथ ही यह Clinically Proven यानी चिकित्सकीय रूप से प्रमाणित होना चाहिए। ध्यान रखें कि Clinically proven और Clinically टेस्टेड में फर्क है। बाजार में ज्यादातर बेबी केयर प्रोडक्ट्स क्लिनिकल्ल्य टेस्टेड होते हैं -यानी उन प्रोडक्ट्स को टेस्ट किया गया है। लेकिन clinically प्रमाणित का मतलब होता है वह प्रोडक्ट्स क्लीनिकल टेस्ट्स पे खरा उतरा है।

उदहारण के लिए अगर जॉनसन'स के बेबी केयर प्रोडक्ट्स की बात करें तो इसमें मौजूद हर इंग्रेडिएंट( तत्त्व ) की टेस्टिंग 12 महीने तक चलती है। दुनिया के लगभग 5.5 लाख लोगों के साथ टेस्ट करने और 8000 क्लीनिकल असेसमेंट से गुजरने के बाद ये प्रोडक्ट्स मार्केट में आते हैं। 

2. प्रोडक्ट्स नवजात शिशु पर पहले दिन से इस्तेमाल करने लायक, सेफ और जेंटल हों :

नवजात शिशु की नाज़ुक त्वचा में धीरे- धीरे मज़बूती आती है। इसलिए चेक कर लें कि जो प्रोडक्ट्स आप ले रहे हों, उसका इस्तेमाल बच्चे पे पहले दिन से किया जा सकता है या नहीं ? यह जानकारी प्रोडक्ट्स पर मौजूद होती हैं। कुछ प्रोडक्ट्स पर हॉस्पिटल्स भी भरोसा रखते हैं जैसे कि जॉनसन'स top-to-toe™ वाश जो दुनियाभर के हॉस्पिटल्स की पहली choice है नवजात शिशु के पहले स्नान के लिए। और जो प्रोडक्ट नवजात शिशु के लिए सेफ और जेंटल हो, वह किसी भी और बच्चे के लिए सेफ और जेंटल होंगे।

3. प्रोडक्ट्स से किसी प्रकार की इर्रिटेशन नहीं होनी चाहिए -स्किन या आँखों में :

जो भी प्रोडक्ट्स लें, जान लें कि वह बच्चो की आँखों के लिए जेंटल हो और कोई जलन न करें। ताकि अगर यह गलती से बच्चों की आँखों में चला जाए तो उन्हें नुक्सान न पहुचें। बच्चों की त्वचा के साथ साथ उनकी आँखों को भी ख़ास देखवाल की जरुरत होती हैं।

जॉनसन'स का नो मोर टीयर्स ™ (No More Tears ™) शैम्पू ऐसा एक शैम्पू है जो बच्चों के लिए बिलकुल जेंटल है एवं आँखों में कोई भी इर्रिटेशन या जलन नहीं करता हैं।

इसके अलावा प्रोडक्ट्स में डाइज यानी कलर्स clinically नियंत्रित मात्रा में हो या न हो तो अच्छा है। बेबी प्रोडक्ट्स में ऐसी कोई भी चीज़ नहीं होनी चाहिए जिससे आपके बच्चों को एलर्जी हो सकती है। अगर प्रोडक्ट में हाइपोएलर्जेनिक (Hypoallergenic) लिखा हो तो उसका मतलब है की उस प्रोडक्ट से बच्चों को एलर्जी होने की खतरा कम हैं।

4. प्रोडक्ट्स में केवल एसेंशियल तत्त्व होने चाहिएँ और हर एक तत्त्व टेस्टेड होना चाहिए :

बेबी केयर प्रोडक्ट्स में सिर्फ एसेंशियल यानि ज़रूरी इंग्रेडिएंट्स होने चाहिए, ताकि आपके बच्चो को कोई भी रिएक्शन होने का चान्स घट जाए। हर एक इंग्रेडिएंट सेफ मात्रा में और सख्त जांच किये जाने के बाद ही प्रोडक्ट में होना चाहिए। दुनिया में जितनी भी सामग्री से बेबी प्रोडक्ट्स बन सकते हैं, उनमे से सिर्फ 2% सामग्री जॉनसन'स के सेफ्टी प्रोसेस और इंटरनल मानकों को मीट करते हैं। तो जॉनसनस एक ऐसा ब्रांड है जो सिर्फ और सिर्फ एसेंशियल तत्त्व से प्रोडक्ट्स बनाते हैं।

बेबी केयर प्रोडक्ट में माइक्रोब यानी फंगस या और कोई बैक्टीरिया न बन पाए, इसलिए काफी सारे प्रेज़रवेटिव का इस्तेमाल किया जाता हैं। बेबी प्रोडक्ट्स में पैराबेन, सलफेट या phthalate जैसे कुछ प्रेज़रवेटिव clinically नियंत्रित मात्रा में इस्तेमाल किये जाते हैं।



लेकिन आज की माँ इन सब प्रेज़रवेटिव को लेकर शंका में रहती हैं और यह ध्यान में रखते हुए नए जॉनसन'स में कोई भी पैराबेन, सलफेट या phthalate नहीं हैं। इसकी वजह से आजकी माँ जॉनसन'स के प्रोडक्ट्स अपने बेबी के लिए चुन सकती हैं बिना किसी झिझक के।

बेबी केयर प्रोडक्ट खरीदते वक़्त बाजार में उपलब्ध सारे ब्रांड्स की तुलना ज़रूर करें और खुद इंग्रेडिएंट्स व टेस्टिंग प्रक्रिया के बारे में पढ़ और जान लें कि कौन सा ब्रांड कितना सेफ और जेंटल हैं।

5. बेबी केयर प्रोडक्ट्स में खुशबु बिलकुल सेफ और सर्टिफाइड होनी चाहिए :

बेबी केयर प्रोडक्ट में सेफ फ्रेग्रेन्स यानि खुशबु होने से बेबीज का मूड अच्छा रहता है और बेबी के स्वस्थ डेवलपमेंट में सहायता मिलती हैं। लेकिन यह खुशबु बेबी प्रोडक्ट में इस्तेमाल के लायक है या नहीं, यह ध्यान रखना भी ज़रूरी हैं। कुछ बच्चों को कुछ ख़ास फ्रेग्रेन्स इंग्रेडिएंट्स से भी एलर्जी होती है, इसलिए इस मामले में लापरवाही नहीं करनी चाहिए। प्रोडक्ट में जो फ्रेग्रेन्स मैटेरियल इस्तेमाल किये गए हैं, वह इफरा (IFRA) यानी इंटरनेशनल फ्रेग्रेन्स एसोसिएशन (International Fragrance Association) द्वारा सर्टिफाइड होने चाहिए। इफरा (IFRA) कई मनकों के आधार पर फ्रेग्रेन्स की सेफ्टी सुनिश्चित करती है। जॉनसन'स में इस्तेमाल किये गाये सारे फ्रेग्रेन्स इफरा के सर्वोत्तम मननकोको मीट करता है और सभी लिस्टेड एलर्जेंस से रहित फ्रेग्रेन्स ही अपने बेबी प्रोडक्ट्स में हैं।

Source - Dainik Bhakar 


Follow by Email