जो पूछ रहे थे इतने साल बाद शिकायत का क्या फायदा, उनको मेनका गांधी का तगड़ा जवाब


मीटू केसेज़ पर अब पब्लिक हियरिंग होगी. महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने ऐसा कहा है, शुक्रवार को. चार रिटायर्ड जजों की एक कमेटी बनेगी, जो इन मामलों पर सुनवाई करेगी.

इंडिया में इस वक्त मी टू मूवमेंट चल रहा है. सोशल मीडिया पर बहुत सारी औरतें सामने आ रही हैं. और अपनी लाइफ के किसी न किसी स्टेज पर हुए सेक्सुअल हैरेसमेंट की घटना पर बात कर रही है. बड़े-बड़े नामी लोगों के ऊपर आरोप लग रहे हैं. सबके मन में ये सवाल आ रहा था, कि इस मूवमेंट ने दबे हुए मामले तो बाहर ला दिए, लेकिन अब क्या?



इसका जवाब भी मेनका गांधी ने दे दिया है. अब ये कि इन मामलों पर जन सुनवाई होगी. यूनियन मिनिस्टर का कहना है कि औरतों को सामने आना चाहिए और यौन उत्पीड़न की शिकायत करनी चाहिए. पीटीआई को मेनका गांधी ने मी टू मूवमेंट पर इंटरव्यू दिया और सुनवाई वाली बात कही.

असल में मेनका ने क्या कहा. यहां पढ़ें-

'मैं हर औरत पर विश्वास करती हूं. मैं हर औरत की शिकायत के पीछे उसके दुख और ट्रॉमा पर यकीन करती हूं. मी टू कैंपेन से जो भी मामले सामने आ रहे हैं, उनकी सुनवाई के लिए मैं एक कमेटी बनाने का प्रपोज़ल रख रही हूं. इस कमेटी में सीनियर ज्यूडिशियल मेंबर्स होंगे, जो इन केसेज़ को देखेंगे.'

Source - On India 




Follow by Email