तीस हज़ार रेप पीड़ितों का इलाज करने वाले डॉक्टर को मिला शांति का नोबेल पुरस्कार

साल 2018 का नोबेल शांति पुरस्कार कांगो में स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर डेनिस मुकवेगे और यज़ीदी महिला अधिकार कार्यकर्ता नादिया मुराद को दिया गया है.

डेनिस मुकवेगे डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ़ कांगो में कार्यरत एक स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं.

उन्होंने और उनके सहकर्मियों ने तीस हज़ार से अधिक बलात्कार पीड़ितों का इलाज किया है और गंभीर यौन हिंसा की शिकार महिलाओं के इलाज में उन्होंने विशेषज्ञता हासिल की है.

उनकी कहानी बलात्कार के युद्ध में हथियार के तौर पर इस्तेमाल का भी विस्तृत विवरण देती है.



जब युद्ध छिड़ा, पूर्वी डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ़ कागों के लेमेरा स्थित मेरे अस्पताल में 35 मरीज़ों की मौत हो गई.

मैं बुकावू भाग आया और यहां मैंने टेंट में अस्पताल शुरू किया. मैंने प्रसूति गृह शुरू किया जिसमें ऑपरेशन थिएटर भी था.

लेकिन 1998 में फिर से सबकुछ तबाह हो गया. मुझे साल 1999 में सबकुछ फिर से शुरू करना पड़ा.

इस साल पहली बलात्कार पीड़ित हमारे अस्पताल आई. बलात्कार करने के बाद उस महिला के जननांगों और जांघों पर गोलियां मारी गई थीं.

मुझे लगा ये युद्ध में किया गया एक बर्बर कृत्य है. लेकिन असली झटका तीन महीने बाद लगा. उस महिला की ही तरह 45 और पीड़ित महिलाएं हमारे पास आईं. उनकी कहानी भी ऐसी ही थी. उन सबने यही बताया, "लोग हमारे गांव में घुसे, बलात्कार किया और हमें यातनाएं दीं."

Source - Aaj Tak 


Follow by Email