भारत निवेश के लिए उपयुक्त स्थान, आने वाले दशकों में दुनिया की आर्थिक वृद्धि का इंजन होगा: मोदी


देहरादून, सात अक्टूबर (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि सामाजिक और आर्थिक क्षेत्र में हो रहे बड़े बदलावों के साथ भारत आज निवेशकों के लिए उपयुक्त निवेश गंतव्य बन गया है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि आने वाले दशकों में भारत विश्व की आर्थिक वृद्धि का इंजन होगा।

प्रधानमंत्री ने यहां आयोजित उत्तराखंड के पहले निवेशक सम्मेलन का उद्घाटन करते हुये यह बात कही। दो दिवसीय ‘डेस्टिनेशन उत्तराखंड : इंवेस्टर्स समिट 2018’ में देश के शीर्ष उद्योगपतिओं और व्यावसायियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि वर्तमान में देश अभूतपूर्व सामाजिक एवं आर्थिक बदलाव के दौर से गुजर रहा है।

मोदी ने कहा, “राजकोषीय घाटे में कमी आई है। मुद्रास्फीति भी गिरी है। मध्यम वर्ग बढ़ रहा है और देश को युवा आबादी का लाभ मिल रहा है।’’ 

उन्होंने कहा कि मौजूदा समय देश में निवेशकों के लिए सबसे अनुकूल है। भारत आज दुनियाभर के निवेशकों के लिये निवेश का उपयुक्त स्थान बन गया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि आने वाले दशक में भारत विश्व आर्थिक वृद्धि का इंजन बन जायेगा। 



प्रधानमंत्री ने कहा, “निवेश माहौल को अनुकूल बनाने के लिये पिछले चार वर्षो में केंद्र और राज्य सरकारों ने 10,000 से ज्यादा कदम उठाये हैं। इससे कारोबार सुगमता के मामले में भारत की स्थिति में 42 अंकों का सुधार हुआ है।” 

जीएसटी को स्वतंत्रता के बाद का सबसे बड़ा कर सुधार बताते हुए मोदी ने कहा कि इसके लागू होने से पूरा देश एक साझा बाजार में परिवर्तित हो गया है। बैकिंग क्षेत्र में भी बहुत सुधार हुआ है। इससे न केवल बैंकों का कारोबार आसान हुआ है बल्कि उन्हें ताकत भी मिली है।

बुनियादी ढांचा क्षेत्र में तेज विकास का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में 10,000 किलोमीटर राजमार्ग का निर्माण हुआ जो पहले की सरकारों की तुलना में दोगुना है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 100 नये हवाई अड्डों एवं हेलीपैड बनाये जा रहे हैं एवं देश में विमानन क्षेत्र तेजी से आगे बढ़ रहा है। दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहर हवाई संपर्क से जुड़ रहे हैं।

मोदी ने कहा कि विभिन्न शहरों में द्रुत गति की रेल परियोजनाएं और मेट्रो रेल परियोजनाएं चल रही हैं। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही सब के लिए आवास, बिजली, ईंधन और बैंकिंग से जुड़ी केंद्र की नीति के बल पर निवेश के लिए आदर्श स्थिति बनी है।

उन्होंने कहा, “निवेशकों को मेरा संदेश है कि वे भारत में अपने उत्पादों का विनिर्माण करें, केवल भारत के लिए नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए यहां उत्पादन करें।” 

गरीब परिवारों के लिये शुरू की गई स्वास्थ्य योजना 'आयुष्मान भारत' का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस योजना के जरिये भारत में चिकित्सा के क्षेत्र में भी निवेश की संभावना बढ़ी है।

Source -BhashaPti news


Follow by Email