वो वजह जिससे चंदा कोचर कुर्सी छोड़ने को हुईं मजबूर



वीडियोकॉन समूह को लोन दिए जाने के मामले में आरोपों का सामना कर रही चंदा कोचर ने गुरुवार को आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ, प्रबंध निदेशक और बैंक के सब्सिडिअरी के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर के पद को छोड़ दिया.

भले ही आज उनका नाम ग़लत कारणों से चर्चा में है और जिसकी वजह से उन्हें रिटायरमेंट से पहले अपना पद तक गंवाना पड़ा है, लेकिन आईसीआईसीआई बैंक के सीईओ पद तक का सफ़र तय करने में चंदा कोचर की मेहनत और लगन एक मिसाल के तौर पर दी जाती रही है.



चंदा कोचर वो नाम है जिन्होंने न केवल भारतीय बैंकिंग सेक्टर में पुरुषों के वर्चस्व को तोड़ा बल्कि पूरी दुनिया में बैंकिंग के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाई.

एक मैनेजमेंट ट्रेनी के पद से अपने करियर की शुरुआत कर आईसीआईसीआई बैंक का सीईओ बनने और फोर्ब्स पत्रिका में 'दुनिया की सबसे शक्तिशाली महिलाओं' की सूची में शुमार होने वाली चंदा कोचर का जीवन एक महिला की सफलता की दमदार कहानी है.

चंदा कोचर सफलता के इस मुकाम तक कैसे पहुंचीं और आख़िर वो क्या कारण थे जिसकी वजह से उन्हें समय से पहले अपना पद छोड़ना पड़ा?

Source - NDTV 


Follow by Email