सीवर/सैप्टिक टैंक की सफाई के दौरान दिल्‍ली में हाल ही में कई लोगों की मौत के संदर्भ में राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष दिल्‍ली के उप-राज्‍यपाल और मुख्‍यमंत्री से मि‍ले

दिल्‍ली में सीवर/सैप्टिक टैंकों की सफाई के दौरान हाल ही में कई लोगों की मौत को लेकर राष्‍ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के अध्‍यक्ष श्री मनहर वलजी भाईज़ाला आयोग की सदस्‍य श्रीमती मंजू दिलेर के साथ आज नई दिल्‍ली के राजभवन में उप-राज्‍यपाल श्री अनिल बैजल और मुख्‍यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल से मिले।

दिल्‍ली में पिछले कुछ महीने में कुछ सफाई कर्मचारियों की मौत पर गहरा दुख व्‍यक्‍त करते हुए राष्‍ट्रीय सफाई कर्मचारी के अध्‍यक्ष ने ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए दिल्‍ली सरकार से "मैनुअल स्कैवेंजर्स और उनके पुनर्वास अधिनियम 2013 के तहत रोजगार का निषेध" को सही तरीके से लागू करना सुनिश्चित करने का आग्रह किया। उन्‍होंने दिल्‍ली सरकार से सीवर/सैप्टिक टैंकों की मैनुअल सफाई पर तत्‍काल प्रतिबंध लगाने और इस तरह की सफाई का पूर्ण मशीनीकरण करने का आग्रह किया। उन्‍होंने दिल्‍ली सरकार द्वारा अस्‍वास्‍थ्‍यकर शौचालय एवं मैनुअल स्कैवेंजर्स की रिर्पोटिंग पर संदेह जताया और इस बारे में फिर से एक स्‍वतंत्र तीसरी पार्टी द्वारा पुन: सर्वेक्षण कराने की मांग की।

इस बारे में अपनी चिंता साझा करते हुए दिल्‍ली के उप-राज्‍यपाल ने आयोग को इस समस्‍या से निपटने के लिए दिल्‍ली सरकार द्वारा उठाए गए विभिन्‍न कदमों के बारे में जानकारी दी। दिल्‍ली सरकार ने सीवर/सैप्टिक टैंकों की सफाई के लिए एक नया सुरक्षा प्रोटोकाल शुरू किया है। दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री ने भी आयोग को बताया है कि दिल्‍ली सरकार इस समस्‍या को लेकर काफी संजीदा और संवेदनशील है और वे खुद सभी पीडि़तों के परिवारों से जाकर मिले और प्रत्‍येक पीड़ित परिवार को मुआवजा के तौर पर 10 लाख रुपये का चैक दिया।

Follow by Email