पुतिन का आरोप, नॉर्थ कोरिया को भड़का रहा अमेरिका



मॉस्को 

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि कोरियाई प्रायद्वीप में बढ़ रहे संकट को सुलझाने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग-उन दोनों को संयम बरतना चाहिए। साल की आखिरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुतिन ने मौजूदा संकट पैदा करने के लिए अमेरिकी नीतियों को जिम्मेदार ठहराया। गौरतलब है कि किम और ट्रंप दोनों की ओर से जुबानी जंग जारी है। 

रूसी राष्ट्रपति ने 2005 के एक समझौते का जिक्र करते हुए कहा कि अमेरिका, रूस, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया और नॉर्थ कोरिया ने मिलकर किम सरकार को परमाणु हथियारों से मुक्त करने की कोशिश की थी। लेकिन, 'कुछ महीने बाद ही अमेरिका को यह पर्याप्त नहीं लगा। कहा जाने लगा कि नॉर्थ कोरिया को समझौते से ज्यादा करना होगा। अमेरिका ने ऐसा क्यों किया? क्या यह पर्याप्त नहीं था?' 
पुतिन ने सीधे तौर पर अमेरिका पर आरोप मढ़ा। उन्होंने कहा कि डील से हटकर अमेरिका नॉर्थ कोरिया को भड़का रहा है। उन्होंने इराक में सद्दाम हुसैन और लीबिया में गद्दाफी को हटाने में अमेरिका के शामिल होने की बात कही। इस बीच, अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने अपने रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन से फोन पर बातचीत की है। वाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने एक बयान में कहा, राष्ट्रपति ने पुतिन से बातचीत की है। हालांकि इससे ज्यादा जानकारी नहीं दी गई। 

चुनाव जीते तो क्या करेंगे सुधार? 

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि यदि वह अगले साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में जीतते हैं तो वह बुनियादी ढांचे, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा, उन्नत प्रौद्योगिकी, श्रम उत्पादकता और नागरिकों की आय में सुधार पर ध्यान केंद्रित करेंगे। पुतिन ने वार्षिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'प्रशासन और पूरे समाज को जिन चीजों पर सर्वाधिक ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है, वह बुनियादी ढांचे का विकास, स्वास्थ्य, शिक्षा, उच्च प्रौद्योगिकी और कार्यबल उत्पादकता बढ़ाना है। इन सभी क्षेत्रों में प्रयास करने का उद्देश्य नागरिकों की आय बढ़ाना है।' 

उन्होंने कहा कि यदि वह अगले साल होने वाला चुनाव जीत जाते हैं तो प्रशासन इन सभी पहुलओं पर ध्यान केंद्रित करेगा। पुतिन के मुताबिक, उनका चुनाव कार्यक्रम तैयार है लेकिन उन्होंने इसके बारे में कोई जानकारी देने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि संवाददाता सम्मेलन इन जानकारियों को उजागर करने का सही स्थान नहीं है। पुतिन ने कहा कि वह निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में राष्ट्रपति चुनाव लड़ना चाहते हैं।
Source - Navbharat Times

Follow by Email