अब जीपीएफ पर 8 फीसद की दर से मिलेगा ब्याज


सरकार ने जनरल प्रोविडेंट फंड (जीपीएफ) पर मिलने वाले ब्याज दर में 0.4 फीसद इजाफा कर इसे 8 फीसद कर दिया है। नई दरें अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए लागू होंगी। यह दर पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) के अनुरूप है। इससे पहले जीपीएफ पर जुलाई सितंबर तिमाही में 7.6% फीसद की दर से ब्याज मिलता था।

आर्थिक मामलों के विभाग ने एक अधिसूचना जारी करते हुए कहा कि वर्ष 2018-2019 के दौरान सामान्य भविष्य निधि और अन्य समान फंड के ग्राहकों को 1 अक्टूबर 2018 से 31 दिसंबर 2018 तक जमा पर 8% की दर से ब्याज मिलेगा। ब्याज दर केंद्र सरकार के कर्मचारियों रेलवे और सुरक्षा बलों के भविष्य निधि पर भी लागू होगी।



बता दें कि पिछले महीने सरकार ने घोषणा की थी कि अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए एनएससी और पीपीएफ समेत छोटी बचत पर ब्याज दर 0.4 फीसद तक बढ़ाया जाएगा।

जानिए क्या है जीपीएफ

जीपीएफ अकाउंट एक तरह से प्रोविडेंट फंड है, लेकिन इसे प्राइवेट कर्मचारी नहीं खुलवा सकते। इस खाते की सुविधा सिर्फ सरकारी कर्मचारियों को मिलती है। इसमें जमा पैसा रिटायरमेंट के वक्त सरकारी कर्मचारी को मिल जाता है। इस सुविधा का फायदा उठाने के लिए कर्मचारी को अपनी सैलरी का एक हिस्सा जीपीएफ में जमा करना होता है। अगर कर्मचारी को लोन की जरूरत होती है तो इस खाते से लोन लिया जा सकता है। इस लोन पर कोई ब्याज नहीं लगता। कर्मचारी जितनी बार चाहे, इस अकाउंट से लोन ले सकता है।

Source - Jagran 


Follow by Email