दूल्हा आया, दहेज में 1 रुपया लिया और हेलीकॉप्टर में विदा कर ले गया अपनी दुल्हन

दूल्हा आया, दहेज में 1 रुपया लिया और हेलीकॉप्टर में विदा कर ले गया अपनी दुल्हन

कई खबरें आती हैं, कि दहेज के लिए बहू को प्रताड़ित किया, उसे जला दिया, उसे मार दिया, उसे फांसी पर लटका दिया. ये सब खबरें सुनने के बाद मन एकदम खट्टा हो जाता है. सवाल आता है कि दहेज का कीड़ा कब मरेगा? लेकिन इन सबके बीच कुछ ऐसी खबरें भी आती हैं, जो तसल्ली दे जाती हैं. जिन्हें सुनकर एक उम्मीद की किरण दिखती है. हाल ही में हरियाणा में कुछ ऐसी शादियां देखने को मिली हैं, जो लीक से हटकर हैं.
हरियाणा में एक जिला है सोनीपत. वहां एक सिटी है गोहाना. गोहाना में एक गांव है हसनगढ़. कुछ दिनों पहले हसनगढ़ में एक शादी हुई. शादी बहुत स्पेशल रही. क्यों? क्योंकि दूल्हे के परिवार में दहेज में महज 1 रुपया लिया. वो भी शगुन के तौर पर. इसके अलावा दूल्हन की विदाई डोली या कार में नहीं, बल्कि हेलीकॉप्टर में हुई.
दूल्हन का नाम है संतोष. संतोष के पिता सतबीर मजदूर हैं. 10 फरवरी 2019 के दिन संतोष की शादी हांसी के रामपुरा गांव के संजय से हुई. संजय के परिवारवालों ने शादी से पहले ही कह दिया, कि उन्हें दहेज में कुछ नहीं चाहिए. केवल शगुन के तौर पर एक रुपए ही चाहिए. संतोष और संजय की शादी हुई, अच्छे से हुई. फिर विदाई हुई, हेलीकॉप्टर से. पूरा गांव देखता रह गया.
ये तो आपको हमने पहली स्पेशल शादी और विदाई के बारे में बताया. अब दूसरी शादी के बारे में जानिए. गोहाना में ही एक गांव है आहुलाना. यहां पर भी इस तरह की शादियां हुईं. शादियां इसलिए क्योंकि एक ही परिवार की दो बेटियों की शादियां हुईं. दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आहुलाना के पवन शर्मा, जो कि पेशे से सिक्योरिटी गार्ड हैं, उन्होंने अपनी दो बेटियों, निशा और काजल की शादी कराई. 26 फरवरी के दिन ये शादी हुई. बारात भिवानी जिले के केहरपुरा गांव से आई. इस गांव के दो भाई प्रवीण और राजकुमार, बारात लेकर आए. दहेज में शगन के तौर पर महज एक रुपए लिए. और दोनों अपनी दुल्हन को हेलीकॉप्टर से विदा कर ले गए.
ये शादियां बहुत ही खास है. उस सोसायटी के लिए खास है, जो दहेज को ही सबकुछ मानती है. जिसे लगता है कि लड़के की शादी होगी, तो ढेर सारा दहेज मिलेगा. दहेज के लिए हरदम मुंह फाड़ने वाले लोगों को, इन शादियों से कुछ सीखना चाहिए.
Source - Odd Nari

Follow by Email