World Cup कोई भी क्रिकेट टीम जीते, जश्न के लिए नहीं मिलेगी ICC ट्रॉफी

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में किस टीम की जीत होगी इसके बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता. फाइनल मुकाबला 14 जुलाई को होगा. जिसके बाद मालूम चलेगा की कौन सी टीम वर्ल्ड कप ट्रॉफी जीतने में कामयाब रही. वहीं हम आपको बता दें, जीत चाहे किसी भी टीम की हो, लेकिन जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी नहीं मिलती है. जी हां ये सच है. आइए जानते हैं कहां रखी जाती है असली ट्रॉफी.


इस टीम ने जीता था वर्ल्ड कप ट्रॉफी का मैच

साल 1975 में 7 जून के रोज क्रिकेट के महाकुंभ पहले विश्व कप की शुरुआत हुई थी. जो 21 जून तक चला था. ये इंग्लैंड में खेला गया था. जिसमें वेस्टइंडीज टीम विजेता बनी थी. टीम ने फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड की ट्रॉफी जीती थी.

वर्ल्ड कप ट्रॉफी से जुड़ा इतिहास 

वर्ल्ड कप का आगाज 1975 में हुआ, जिसके बाद साल 1975 (वेस्टइंडीज), 1979 (वेस्टइंडीज), 1983 (भारत) तक जो टीम विजेता बनी उन्हें एक ही तरह की ट्रॉफी दी गई. उस वक्त इन ट्रॉफी का डिजाइन में कोई बदलाव नहीं किया गया था. क्योंकि आयोजित हुए तीन वर्ल्ड कप के स्पॉन्सर प्रूडेंशियल पॉलिसी थे. जिसके बाद स्पॉन्सर तो ट्रॉफी के डिजाइन में बदलाव किया गया. 

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) आईसीसी ने 1999 विश्व कप में पहली बार विजेता टीम को अपनी ट्रॉफी दी. जिसके बाद से इस नियम का पालन किया जा रहा है. आपको बता दें, वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी नहीं दी जाती है. 

जानें- कहां रखी जाती है असली ट्रॉफी 

वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी नहीं दी जाती है. दरअसल उस ट्रॉफी की हूबहू कॉपी टीम को दी जाती है. वर्ल्ड कप की ओरिजनल ट्रॉफी इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) अपने पास संभालकर रखती है.

कैसे तैयार होती है वर्ल्ड कप ट्रॉफी 

शानदार वर्ल्ड कप ट्रॉफी को बनाना आसान काम नहीं है. इसे बनाने के लिए एक टीम तैयार की जाती है. साल 2018 में ICC ने यूट्यूब चैनल पर एक वीडिया (The Making of the ICC Cricket World Cup Trophy) अपलोड किया था जिसमें बताया गया कि कैसे एक टीम मिलकर वर्ल्ड कप ट्रॉफी को तैयार करती है. 

इन चीजों का होता है इस्तेमाल 

कारीगर अपने हाथों से ट्रॉफी का हर हिस्से को आकार देते हैं. ट्रॉफी को बनाने से पहले पेपर में इसका डिजाइन तैयार किया जाता है और प्लानिंग की जाती है कौन- सा पार्ट कैसे तैयार किया जाएगा. 

फिर फाइनली शुरू होता ट्रॉफी को बनाने के काम. जिसके हर हिस्से पर बारीकी से काम किया जाता है. खास काम ट्रॉफी की नक्काशी पर होती है. ये काम कोई प्रोफेशनल व्यक्ति ही करता है.

बता दें, वर्तमान में वर्तमान वर्ल्ड कप की ट्रॉफी में सोने और चांदी का काम किया जाता है. जिसका वजन करीब 11 किलो का होता है वही उंचाई 60 सेंटीमीटर की होती है. चांदी और सोने से तैयार हुई ये ट्रॉफी एक सुनहरा ग्लोब की तरह दिखाई देती है.

जिसका आकार क्रिकेट की गेंद जैसा होता है, और उसके चांदी के स्तंभ बनाए गए हैं, जो क्रिकेट की बुनियादी पहलुओं 'बैटिंग', 'फील्डिंग', 'बॉलिंग' को दर्शाता है. इसकी साथ ट्रॉफी के नीचे विजेता टीम का नाम लिखा जाता है. 

आपको बता दें, साल 2011 में विजेता बनी भारतीय टीम को बाद में असली ट्रॉफी का प्रतिरूप ही दिया गया था. असली ट्रॉफी को आईसीसी के मुख्यालय शरजाह में रखा जाता है. 

Source - AajTak