महमूद से थीं अरुणा ईरानी की नजदीकियां, 40 साल की उम्र में इस डायरेक्टर से की थी शादी


बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस अरुणा ईरानी को कौन नहीं जानता, उन्होंने अपनी बेहतरीन एक्टिंग के दम पर अपनी पहचान बनाई। अपने फिल्मी करियर में उन्होंने 300 से ज्यादा फिल्मों में काम किया जिसमें कन्नड़, मराठी, गुजराती और हिंदी सिनेमा शामिल है। अधिकतर फिल्मों में वो सपोर्टिंग रोल में नजर आईं, हालांकि अब लंबे समय से वो बड़े पर्दे से दूर हैं। इसके अलावा उन्होंने कई फिल्मों में डांस भी किया जिनमें थोड़ा रेशम लगता है, चढ़ती जवानी मेरी चाल मस्तानी, दिलबर दिलसे प्यारे, मैं शायर तो नहीं जैसे गानों पर बेहतरीन डांस किया।
उन्होंने साल 1961 में फिल्म गंगा जमुना से अपना डेब्यू किया था, जिसमें उन्होंने बच्ची का रोल निभाया था। इसके बाद वो अनपढ़, जहांनारा, फर्ज, उपकार, आया सावन झूमके जैसी फिल्मों में नजर आईं। इसके बाद उन्होंने औलाद, हमजली, देवी और नया जमाना जैसी फिल्मों में काम किया। इसके बाद वो बॉम्बे टू गोवा, गरम मसाला, दो फूल, फर्ज, बॉबी, फकीरा, सरगम, लव स्टोरी और रॉकी जैसी फिल्मों में नजर आीं। उन्हें अपनी फिल्म पेट, प्यार और पाप के लिए पहली बार बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला।



अगर अरुणा ईरानी की निजी जिंदगी की बात करें तो उनका नाम एक्टर महमूद के साथ जुड़ा। दोनों के बीच इतनी अच्छी दोस्ती थी कि खबरें यह भी आईं कि दोनों ने शादी कर ली है। हालांकि उन्होंने खुद इस बात को कभी स्वीकार नहीं किया। एक इंटरव्यू में अरुणा ने कहा कि हमारे बीच बहुत अच्छी दोस्ती थी लेकिन हमने कभी शादी नहीं की। उन्होंने कहा कि अगर हम एक दूसरे से प्यार करते को अपने रिश्ते को आगे बढ़ाते। प्यार कभी खत्म नहीं होता, ये हमेशा रहता है। मैंने अपने बीते कल को गुडबाय कह दिया है।
अरुणा के बारे में बहुत कम लोग यह बात जानते हैं कि उन्होंने 40 की उम्र में शादी की थी। उन्होंने फिल्म डायरेक्टर कुक्कू कोहली से शादी की थी। कुक्कू के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने फिल्म फूल औक कांटे में एक्टर अजय देवगन को ब्रेक दिया था। इसके अलावा उन्होंने कोहराम, सुहाग, हकीकत, अनाड़ी नंबर 1, जुल्मी और ये दिल आशिकाना जैसी फिल्मों को डायरेक्ट किया।



अपने पति के बारे में बात करते हुए अरुणा ने मैं 40 साल की थी जब कुक्कू से मेरी मुलाकात हुई। वो मेरी एक फिल्म के डायरेक्टर थे। मैं उनकी तरफ अट्रैक्ट हो गई थी। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली। खबरों की मानें तो अरुणा ने शादी के बाद मां नहीं बनने का फैसला किया था। 

करीब 300 फिल्मों में काम करने और अपनी अलग पहचान बनाने के बाद अरुणा ने टीवी की तरफ रुख किया और यहां भी कामयाबी हासिल की। इन दिनों वो टीवी सीरियल दिल तो हैप्पी है जी में नजर आ रही हैं। अगर उनके करियर की बेहतरीन फिल्मों की बात की जाए तो उसमें बेटा, कारवां, बॉबी, दो झूठ, खून पसीना, सुहाग और कर्तव्य जैसी फिल्में शामिल हैं।

Source - TVNews