अफवाहों पर न करें भरोसा, अभी नहीं आएंगे 10वीं के रिजल्ट



बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड (BSEB) ने एक आधिकारिक बयान जारी कर कहा है कि बिहार बोर्ड कक्षा 10वीं की परीक्षा की आंसर शीट का मूल्यांकन पूरा नहीं हुआ है. ऐसे में अभी परिणाम की घोषणा नहीं हो सकती है.

आपको बता दें, पहले खबर आई थी कि 10वीं के परिणाम अप्रैल के पहले हफ्ते में जारी किए जा सकते हैं. हालांकि बोर्ड ने इसे अफवाह बताया है. परीक्षा का आयोजन 17 फरवरी से 24 फरवरी तक किया गया था. लेकिन बीएसईबी के प्रवक्ता राजीव द्विवेदी ने बिहार मैट्रिक परिणाम की घोषणा की तारीख की खबर का खंडन किया है.
उन्होंने बताया, "बिहार बोर्ड कक्षा 10वीं की आंसर शीट की उत्तर पुस्तिका का मूल्यांकन पूरा नहीं हुआ है. मूल्यांकन प्रक्रिया पूरी होने के बाद बोर्ड टॉपर्स का फिजिकल वेरिफिकेशन और इंटरव्यू आयोजित किया जाएगा."

हालांकि, देश में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन के कारण, मूल्यांकन प्रक्रिया अभी नहीं हो रही है. इसलिए मैट्रिक परीक्षा परिणाम घोषित करने के समय के बारे में किसी भी जानकारी पर विश्वास न करें. द्विवेदी ने बयान में कहा, परिणामों की घोषणा के समय की पूर्व जानकारी दी जाएगी."

इससे पहले, रविवार को बीएसईबी ने कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर कक्षा 10वीं की परीक्षा के लिए सभी मूल्यांकन कार्यों को स्थगित करने का आदेश दिया था. बोर्ड ने 31 मार्च तक मूल्यांकन रोक दिया था. हालांकि, केंद्र सरकार ने 14 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की है. लॉकडाउन खत्म होने के बाद ही मूल्यांकन प्रक्रिया फिर से शुरू की जाएगी.

बता दें, बिहार बोर्ड ने रिकॉर्ड तेजी से कक्षा 12वीं का रिजल्ट जारी किया है. बता दें कि इस साल 12वीं बोर्ड की परीक्षा में कुल 12,04,834 विद्यार्थी शामिल हुए थे, जिसमें से 6,56,301 छात्र तथा 5,48,533 छात्राएं थीं. बता दें, बिहार बोर्ड का दावा है कि उन्होंने इस परिणाम को 40 दिन में जारी कर दिया है.

बिहार बोर्ड की परीक्षा राज्य के 1283 केंद्रों पर आयोजित की गई थी. इस बार कॉमर्स, साइंस, आर्ट्स स्ट्रीम में कुल मिलाकर 80.44 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए हैं, जबकि पिछले साल 79.76 प्रतिशत छात्र पास हुए थे.

Source - Aaj Tak

A News Center Of Positive News By Information Center

Follow by Email