कोरोना संकट: बुजुर्ग महिला ने हज के लिए जमा किये थे 5 लाख रुपये, कर दिये दान



भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए हर कोई मदद को अपने हाथ आगे बढ़ा रहा है. जम्मू-कश्मीर की एक बुजुर्ग मुस्लिम महिला ने हज पर जाने के लिए जमा की गई अपनी राशि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़ी संस्था (NGO) सेवा भारती को दान कर दी है.

जम्मू-कश्मीर के एलजी के सलाहकार फारूक खान की मां खालिदा बेगम ने 5 लाख रुपये सेवा भारती को दान दिए हैं. दरअसल, 87 साल की खालिदा बेगम कोराना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के दौरान सेवा भारती संस्था के काम से काफी प्रभावित हुई हैं. उन्होंने हज यात्रा के लिए पांच लाख रुपये जमा किए थे लेकिन कोरोना वायरस महामारी की वजह से उनकी हज यात्री टल गई.

खालिदा बेगम चाहती हैं कि उनका पैसा जम्मू-कश्मीर में गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए इस्तेमाल किया जाए. इसलिए उन्होंने कोरोना महामारी से जंग के बीच लॉकडाउन में लोगों की मदद के लिए काम कर रही सेवा भारती को 5 लाख रुपये दान देने का फैसला किया.

खालिदा बेगम के बेटे फारूक खान एक सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी है, जो वर्तमान में जम्मू और कश्मीर के लेफ्टिनेंट गवर्नर के सलाहकार के रूप में सेवा कर रहे हैं.

Source - Aaj Tak

A News Center Of Positive News By Information Center

Follow by Email