दशहरा, दीपावली और छठ के त्योहारी सीजन में रेलवे चलायेगा 200 स्पेशल ट्रेन

त्योहारी सीजन को ध्यान में रखते हुए भारतीय रेलवे ने 100 जोड़े स्पेशल ट्रेन चलाने की कवायद शुरू कर दी है. इसको लेकर रेलवे तैयारी में जुट गया है. कोरोनावायरस महामारी के कारण पिछले कई महीनों से रेलवे की सेवाएं बंद हैं. कुछ रूटों पर स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू हो रहा है. अभी भी रेलवे पूर्ण रूप से सेवाएं बहाल करने के पक्ष में नहीं है.
सूत्रों की मानें तो इस साल के अंत तक भी ट्रेनों का परिचालन सामान्य होने की कोई उम्मीद नहीं है. अब अगले साल यानी कि 2021 में ही सामान्य रूप से ट्रेनों का परिचालन हो सकेगा. बता दें कि देश भर में लगभग 13,500 ट्रेनों का परिचालन होता है. कोरोना के इस दौर में दशहरा और दीवाली जैसे बड़े त्योहारों में स्पेशल ट्रेनें चलने से लोगों को सुविधा होगी. वहीं बिहार और झारखंड के लिए छठ पूजा में स्पेशल ट्रेनों का परिचालन राहत देगा.
एक हालिया बयान में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि फिलहाल जितनी स्पेशल ट्रेनें चल रहीं हैं उनमें भी कुछ रूटों पर यात्रियों की संख्या संतोषजनक नहीं है. देश में सात राज्य महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, पंजाब, तमिलनाडु और नार्थ ईस्टर्न में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है. इन राज्यों में कोरोना संक्रमण काबू में नहीं होने की वजह से वहां ट्रेनों का संचालन सामान्य करने में दिक्कत पेश आ रही है.
यादव ने कहा भी कि इस साल के दिसंबर तक भी ट्रेनों का परिचालन सामान्य होने की उम्मीद कम ही दिखती है. जानकारी के अनुसार त्योहार के दौरान अक्टूबर और नवंबर की संभावित यात्री संख्या को देखते हुए व्यस्ततम रूटों पर लगभग 80 और नयी ट्रेन चलाई जा सकती है. इसे मिलाकर करीब 200 ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जायेगा. बता दें कि इन दो महीनों में दशहरा, दिवाली, नवरात्रि, भाई दूज, छठ जैसे त्योहार पड़ रहे हैं और लोग अपने घर जाना चाहते हैं.
स्पेशल ट्रेनें
10 ट्रेन बिहार और दिल्ली के बीच चलेंगी. ये ट्रेनें बिहार के सहरसा, राजेंद्र नगर, राजगीर, दरभंगा और मुजफ्फरपुर से चलेंगी.
दो ट्रेनें बिहार से ही कटिहार से दिल्ली के लिए चलेंगी और वापसी करेंगी.
उत्तर रेलवे 10 ट्रेनों (5 जोड़े) चलायेगा जो दिल्ली और बिहार के बीच चलेंगी. इसके अलावा ट्रेनें पश्चिम बंगाल से दिल्ली, पंजाब से पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश से दिल्ली तक चलाने का काम रेलवे की ओर से किया जायेगा.
दक्षिण मध्य रेलवे दानापुर (बिहार) से सिकंदराबाद के बीच दो ट्रेनों का संचालन करेगा. ये ट्रेनें वापस भी होंगी. दक्षिण पश्चिम रेलवे 6 ट्रेनें (3 जोड़े) चलायेगा जो गोवा और दिल्ली, कर्नाटक-बिहार और कर्नाटक-दिल्ली के बीच चलेंगी.
पश्चिम रेलवे 10 ट्रेनें (5 जोड़े) चलायेगा जो बिहार (दरभंगा) -गुजरात (अहमदाबाद), दिल्ली-गुजरात, बिहार (छपरा) से गुजरात (सूरत), मुंबई-पंजाब, गुजरात (अहमदाबाद) -बिहार (पटना) के बीच दौड़ेंगी.
Source – Prabaht Khabar

A News Center Of Positive News By Information Center

Follow by Email